रुख़सती

रुख़सती चाहता है दिल सारी मसरूफ़ियत को अलविदा कह दूँ आख़िरी सलाम कह दूँ मैं उलझनों को और बेसबब दिल … More

ज़िंदगी

जब भी पूछा है ज़िन्दगी कैसी कटती जा रही है दिन के आग़ाज़ से,शाम के ढलने तक बस तलाश सी … More